by : Awaz-e-Shahpur | 7/13/2019 | 233

आज का विचार:अपमान पर उत्तेजित होने की बजाय स्वयं को संतुलित रखना बुद्धिमानी है
आवाज़ ए शाहपुर 
                          ... उद्यालक शर्मा रैत
13 जुलाई।गौतम बुद्ध एक बार कुरु नगर गए। वहां की रानी के बारे में लोगों का कहना था कि वह बहुत क्रूर है। जब रानी को पता चला कि गौतम बुद्ध कुरु आ रहे हैं तो उसने अपने सेवकों से उनका अनादर करने के निर्देश दिए। जैसे ही बुद्ध ने कुरु नगर में प्रवेश किया तो सेवक उन्हें अपशब्द कहने लगे, लेकिन बुद्ध शांत रहे। यह बात उनके शिष्य आनंद को अच्छी नहीं लगी।उन्होंने बुद्ध से कहा कि 'हमें यहां से किसी ऐसे स्थान पर चले जाना चाहिए, जहां कोई भी हमारे साथ दुर्व्यवहार न करे।इस पर ' बुद्ध ने कहा, 'यह जरूरी नहीं है कि हम जहां भी जाए, वहां  हमारा आदर हो। लेकिन यदि कोई अनादर कर रहा है तो उस स्थान को तब तक नहीं छोड़ना चाहिए जब तक वहां शांति स्थापित न हो जाए।' व्यक्ति का व्यवहार युद्ध में बढ़ते हुए उस हाथी की तरह होना चाहिए जो चारों ओर के तीरों को सहता रहता है, उसी तरह हमें दुष्ट पुरुषों के अपशब्दों को सहन करते रहना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि सबसे उत्तम तो वह है, जो स्वयं को वश में रखे। किसी भी बात पर कभी भी उत्तेजित न हो। अपमान पर उत्तेजित होने की बजाय स्वयं को संतुलित रखना बुद्धिमानी है।

Fresh News

Navigation / Menu

Get your Account / Listing


Here we come up with a choice for you to choose between these two type of accounts : Personal(non business) Account and Business Account. Each account has its own features, read and compare for better understanding. This will help you in choosing what kind of account you need to register with us.


Personal / Non Business Account

In this account type you can do any thing as individual
like wall post, reviews business etc...

Join

Commercial / Business Account

In this account type you can promote your business with all posibilies
and wall post, reviews other business etc...

Join